ngt

NGT का आदेश : शिव के जयकारे अब नहीं लगेंगे अमरनाथ गुफा में ,और अब न ही सुनाई देगी घंटियों की आवाज

Posted by

aamarnath

अमरनाथ की यात्रा पर जाने वाले दर्शनार्थियो के लिए एक बहुत ही बुरी खबर आयी है | अब जब लोग जानलेवा और काफी दुर्गम रास्तो से गुजरकर अमरनाथ गुफा पहुचेगे तो वहाँ पर न तो कोई मंत्र पढ़ पायेगे ,न ही घंटियों ही बजा पायेगे ,न ही जयकारे लगा पायेगे | प्रसाद ले जाने पर भी अब पाबंदी लगा दी गयी है | एनजीटी का यह कहना है की अब अमरनाथ गुफा पूरी तरह से साइलेंट जोन होगी | amarnath

ऐसे सख्त निर्देश अमरनाथ श्राइन बोर्ड को एनजीटी ने दिए है | अब पवित्र गुफा तक मोबाइल फ़ोन भी नहीं ले जाने दिए जायेगे यह भी एनजीटी का ही निर्देश है | अंतिम चेक पोस्ट पर ही श्रद्धालुओ को अपना मोबाइल और अन्य जरुरी सामान जमा कराना होगा | इसके आगे उनको कुछ भी ले जाने की इजाजत नहीं दी जायेगी | अमरनाथ श्राइन बोर्ड को इनजीटी ने एक स्टोररूम बनवाने के लिए भी कहा है जिसमे श्रद्धालुओ के सामान को रखा जा सकेगा |

amarnath

अंतिम चेक पोस्ट के बाद भक्तो की केवल एक लाइन हो जिसमे एक के पीछे एक दर्शनार्थी अमरनाथ गुफा की ओर बढे यह निर्देश भी एनजीटी ने अमरनाथ श्राइन बोर्ड को दिया है | अमरनाथ गुफा के अंदर लगे हुए लोहे के रॉड को एनजीटी ने श्राइन बोर्ड को हटाने का भी निर्देश दिया है | आपको बता दे की अमरनाथ श्राइन मामले में एनजीटी कोर्ट में आज सुनवाई हो रही थी |

amarnath

एनजीटी ने इससे पहले भी दिए थे निर्देश :-

विष्णो देवी में श्रद्धालुओ की सीमा (50 हजार प्रतिदिन ) तय करने के बाद अमरनाथ यात्रा पर भी नवम्बर के महीने में एनजीटी सख्ती दिखाई थी और सुप्रीम कोर्ट के 2012 के आदेश का पालन अभी तक क्यों नही किया गया ? यह भी श्राइन बोर्ड पूछा गया था | मंदिर परिसर में नारियल तोड़ने , श्रद्धालुओ की सुविधाओं , वहाँ शोर मचाने और शौचालयों जैसे मुद्दों पर ग्रीन ट्रिब्यूनल ने सवाल भी पूछे थे |

amarnath

 

Please follow and like us:
35

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *